निरोगी रहने के लिए पंचकर्म के फायदे और विधि

पंचकर्म शरीर की असुद्धियो को बहार निकालने की एक आयुर्वेदिक प्रक्रिया है। पंच, जिसका अर्थ है “पांच,” और कर्म, जिसका अर्थ है “क्रिया”। पंचकर्म के सिद्धांतों का उल्लेख वैदिक काल के प्राचीन ग्रंथों में मिलता है। पंचकर्म बीमारी से छुटकारा दिलाने के साथ-साथ उसको दोबारा होने से रोकती है और स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है। … Read more

खाद्य प्रदार्थ में मौजूद तत्वों के फायदे व नुकसान

खाद्य तत्व एक उपयोगी तत्व है जिसका सही प्रयोग कर के हम रोगों से दूर रह सकते हैं और रोग हो जाने पर इसके थोड़ा परिवर्तन करके रोग को नष्ट भी कर सकते हैं खाद्य तत्व में पंचतत्व विधमान होते हैं। मिटटी के एक साधारण से डेले में ऑक्सीजन, कार्बोन, हाइड्रोजन, नाइट्रोजन, कैल्शियम, फास्फोरस, लोहा, … Read more

खाद्य तत्वों में विटामिन्स का महत्व एंव प्रकार

खाद्य तत्वों में सातवां तत्व विटामिन है। जो शरीर के लिए अति आवश्यक है। वैज्ञानिकों को अभी तक लगभग १५ प्रकार के विटामिन ही ज्ञात हो चुके हैं विटामिन शरीरी के लिए अत्यंत आवश्यक तत्व है विटामिन वसा में घुलनशील है इसका संचयन शरीर में किया जा सकता है विटामिन शरीर के विकास के लिए … Read more

सुप्त स्वस्तिकासन: बीमारी के बाद बल-सर्जन एवं श्रम-परिहार

बीमारी के बाद बल-सर्जन एवं श्रम-परिहार थकावट सबको सताने वाला विकार है, लेकिन इसका प्रमुख कारण ढूँढ़ना उतना ही कठिन। शारीरिक श्रम, मानसिक तनाव और बौद्धिक कार्य—इन सबके कारण थकावट आती है। मनुष्य के शरीर में इंद्रियाँ, मन और बुद्धि इस संपदा का व्यय ठीक तरह से न करते हुए उस पर अतिरिक्त भार लादने … Read more

आसनों के बाद इस तरह करे प्राणायाम की पूर्व तैयारी

शरीर की दृष्टि से आसन में शरीर-स्थिरता प्राप्त करना स्थिरता के संबंभा में बाह्योपचार मात्र हुआ। शरीर को स्नायुओं की शक्ति पर स्थिर किया जा सकता है। साथ ही स्नायुओं को ढीला छोड़कर शरीर को बेहोश करने के समान उसे भुलाकर भी स्थिर बनाया जा सकता है। किसी यात्रा के दौरान हम सब का यह … Read more

मिट्टी की पट्टी बनाने की विधि और फायदे

शरीर के जिस अंग में रोग हो उसपर मिट्टी की पट्टी का प्रयोग करना अत्यंत गुणकारी है। पट्टी को लपेटने के बाद उस स्थान पर ऊपर से गरम कपड़े या मोटे सूती कपड़े की सूखी पट्टी भली प्रकार लपेटें और मिट्टी सूखने तक विश्राम करें। मिट्टी के सूख जाने पर सूखी पट्टी हटाकर गीली पट्टी … Read more

मिट्टी द्वारा प्राकृतिक चिकित्सा आधारभूत तत्त्व – Natural Theraphy

परम पिता परमात्मा ने पाँच तत्त्वों के संगठन से प्रकृति की रचना की है और प्रकृति ने इन्हीं पाँच तत्त्वों द्वारा अपनी सर्वश्रेष्ठ कृति मानव शरीर को गढ़ा है। इन पाँच तत्त्वों को पंच-महाभूत कहते हैं। ये पंच-महाभूत हैं—पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और आकाश। इन पंच-महाभूतों और इनके द्वारा सभी जीवधारियों की शरीर रचना के … Read more

भोज्य पदार्थ जो यौन स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं

प्रेम भावना और यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए प्राचीन काल से ही भोज्य पदार्थों का उपयोग होता आया है। प्राचीन काल में 2000 बीसी से भी पहले चीन के चिकित्सक व्यक्तियों की यौन शक्ति को बढाने के लिए जेन शेन नामक पदार्थ की जड़ को उबालकर उसका काढ़ा पीने के लिए दिया करते थे। … Read more

दर्द कम करने वाले भोज्य पदार्थ जो नियमित उपयोग में आते है

कुछ भोज्य पदार्थ दर्द की अनुभूति को कम करने में सहायक हो सकते हैं। हाल ही में हुए शोधों से यह पता चला है कि दो भोज्य पदार्थ दर्द नाशक का काम कर सकते हैं। पहला पदार्थ कैफीन है जिसे इसके सामान्य उपयोग से परे दर्दनाशक दवाओं में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। दूसरा … Read more

एस्ट्रोजन हार्मोन के स्त्राव को नियंत्रित करते हैं यह सभी भोज्य पदार्थ

कई पौधों में फायटोएस्ट्रोजन होता है जो संरचना में मनुष्य में पाए जानेवाले ओस्ट्रोजन हारमोन के सामान ही होता है मगर उसकी तुलना में कम शक्तिशाली होता है। पौधों में पाए जानेवाले मे हारमोन भले ही कम शक्तिशाली होते हैं मगर बाहरी दवाओं के सामान किसी तरह का अतिरिक्त घातक प्रभाव उत्पन्न नहीं करते अतः … Read more