इन नुस्खों से लाये लाये चेहरे पर गजब रौनक – Home remedies for face

आप जब कभी भी नए लोगों के बीच उठते-बैठते हैं तो चेहरे का जादू सबसे पहले चलता है। लोग सबसे पहले आपके समूचे व्यक्तित्व को आपके चेहरे से ही तौलने की कोशिश करते हैं। अगर चेहरा रोबदार, दमकदार, रौनकदार है तो आपकी काबिलियत बगैर पूरी तरह जाने भी लोग आपको अकसर अहमियत दे देते हैं। यह बात अलग है कि व्यक्तित्व को स्थायी पहचान अंततः काबिलियत से ही मिलती है। जहाँ तक काबिलियत की बात है, वह तो खैर हर व्यक्ति को अनिवार्यतः हासिल करनी ही चाहिए; और यह अंततः आपके आंतरिक संकल्प, निष्ठा और पुरुषार्थ का मामला है। लेकिन यहाँ बात चूँकि शारीरिक स्वास्थ्य की चल रही है, तो चेहरे की रौनक और दमक बनी रहे और बढ़े, इस बाबत कुछ कारगर और आसान नुस्खे ही सुझाए जाएँगे। नुस्खों की बात हो, इससे पहले चेहरे का स्वास्थ्य कायम रहे, इसके लिए कुछ जरूरी बातें जान लेना ज्यादा जरूरी है। अगर चेहरे की रौनक हमेशा बनाए रखनी है और बुढ़ापे में झुर्रियाँ नहीं पड़ने देनी हैं तो आपको चेहरे के घर्षण और मर्दन पर नियमित कुछ समय देना चाहिए।

Effective home remedies for face

घर्षण का अर्थ: यह है कि किसी खुरदुरे तौलिये से सबेरे या रात के समय फुरसत में चेहरे को कुछ समय तक रगड़ें। चाहें तो कपड़ा धोने का मुलायम काँटोंवाला ब्रश भी इस्तेमाल कर सकते हैं। बस इतना सा ध्यान रखना है कि रगड़ से कहीं चमड़ी न छिल जाए। मस्तक, कनपटी, गालों, ठुड्डी और गरदन के घर्षण के बाद अब मर्दन पर आएँ। मर्दन के लिए जैतून, बादाम, सरसों या आयुर्वेद का कुंकुमादि तेल लेकर हथेलियों में चुपड़ लें और चेहरे पर हल्के-हल्के मलें। गालों को ऊपर से नीचे के बजाय नीचे से ऊपर की ओर कनपटी की तरफ मालिश करनी चाहिए। इससे झुर्रियों को रोकने में मदद मिलेगी। माथे की मालिश के लिए दोनों हाथों की उँगलियों का इस्तेमाल करें। दोनों कनपटियों को कुछ देर तक हल्के-हल्के थपथपाएँ। गरदन की मालिश के लिए दोनों हथेलियों को कलाइयों की तरफ से मिला लें और ठोड़ी के नीचे गरदन पर जमा दें। अब आहिस्ता-आहिस्ता आगे से पीछे की ओर गरदन की मालिश करें। बस इतना सा 5-10 मिनट का काम आप नियमित करते रहेंगे तो आपके चेहरे की रौनक बरकरार रहेगी।

चेहरे के लिए असरदार घरेलू नुस्खे – effective home remedies for face

  • अगर आपकी त्वचा सूखी-सूखी या भद्दी दिखती हो तो आधे चम्मच नीबू के रस में इतना ही सिरका और चंद बूँदें गुलाबजल या बादाम का तेल मिलाकर चेहरे पर मलें। कुछ समय बाद जब चेहरा सूख जाए तो हल्के गुनगुने पानी से धो डालें। कुछ ही दिनों में आप चेहरे की चमक बढ़ने का अहसास करने लगेंगे।
  • एक चम्मच दही में 3-4 बूँद शहद मिलाएँ और इसे चेहरे तथा गरदन पर आहिस्ता-आहिस्ता मलें। 15 मिनट बाद सूख जाने पर पानी से धो दें। यह चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए काफी असरदार और सस्ता नुस्खा है। इस नुस्खे के इस्तेमाल से आप डेढ़-दो हफ्ते बाद ही त्वचा के रंग में निखार महसूस करेंगे।
  • गुलाबजल, नीबू का रस और ग्लिसरीन तीनों बराबर मात्रा में मिलाकर रख लें। प्रतिदिन सुविधानुसार किसी भी समय इस मिश्रण की एक चम्मच मात्रा लेकर चेहरे पर मलें। घंटे भर बाद साफ पानी से धो डालें। चेहरे की चमक तो बढ़ेगी ही कील-मुहाँसे भी ठीक होंगे।
  • अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो एक बड़ा चम्मच बेसन और एक चुटकी पिसी हल्दी में गाढ़ा घोल बन सके, इतना कच्चा दूध अथवा पानी मिलाएँ। अब इसमें 2-3 बूँद
  • सरसों का तेल मिलाकर इतना फेंटें कि लेप बन जाए। इस लेप को चेहरे और गरदन पर अच्छी तरह लगाकर छोड़ दें। 10-15 मिनट बाद जब यह लेप सूखने लगे तो धीरे-धीरे हाथ से मसलकर छुड़ा डालें। कुछ देर बाद हल्के गुनगुने पानी से चेहरा, गरदन धो लें। इस नुस्खे का इस्तेमाल हफ्ते भर लगातार करके फिर हफ्ते में दो-तीन ही दिन करते रहें तो भी पर्याप्त है। चेहरे की रंगत धीरे-धीरे निखरने लगेगी।
  • प्रातःकालीन ओस की बूँदों में एक साफ रूमाल भिगोकर इसे चेहरे पर धीरे-धीरे मलें। आपका चेहरा ताजगी से भर उठेगा।
  • यदि शुष्क त्वचा हो तो चंदन की लकड़ी को दूध में घिसकर लगाएँ और अगर तैलीय त्वचा हो तो चंदन की लकड़ी गुलाबजल में घिसकर लगाएँ। घंटे भर बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें। कुछ ही दिनों में चेहरे से दाग-धब्बे गायब हो जाएँगे।

Home remedies for face

  • अदरक का एक टुकड़ा लेकर छील लें तथा उसे नुकीला बना लें। अब खानेवाला चूना अदरक की नोंक पर लेकर दिन में तीन बार मस्सों पर लगाएँ। हफ्ते-दस दिन में ही मस्से दूर होने लगेंगे। हर दिन अदरक का नया प्रयोग करें। यदि बाद में मस्सों के दाग रह जाएँ तो बादाम का तेल लगाएँ।
  • जायफल, जावित्री, शोधित गुग्गुल, चंदन, पीपल, गंधक रसायन, रौप्य भस्म, शंख भस्म, हीराकसीस भस्म, सभी 10-10 ग्राम; प्रवाल पिष्टी 15 ग्राम, गिलोय सत्त्व 20 ग्राम, गोरोचनी 25 ग्राम, स्वर्ण सिंदूर 25 ग्राम। ये सभी औषधि द्रव्य 12 घंटे तक खरल में एक साथ मिलाकर घोंटें। इसके बाद आँवला और भृंगराज के रस में 7 बार भावना देकर एक नंबर के कैप्सूलों में भर लें। दिन में तीन बार भोजन के बाद 1-1 कैप्सूल गोदुग्ध या शहद के साथ सेवन करें। यह औषधि रक्त विकार दूर करती है, यकृत की गड़बडि़याँ ठीक करती है तथा चर्म विकार आदि नष्ट करके रूप-लावण्य की वृद्धि करती है। इस औषधि को सेवन करते हुए सप्ताह में एक बार गुलकंद आदि का मृदु विरेचन अथवा एनिमा अवश्य लेना चाहिए। सभी घटक द्रव्य आयुर्वेदिक दुकानों पर सहज उपलब्ध हैं। विवाह योग्य युवक-युवतियाँ इसका सेवन कर विशेष लाभ ले सकते हैं।
  • जो युवक-युवतियाँ मँुहासों की समस्या से बुरी तरह पीडि़त हैं और ढेर सारे उपचार कराकर थक चुके हैं, उन्हें एक बार निम्न उपचार क्रम अपनाना चाहिए। इस विधि को धन्वंतरि कार्यालय, विजयगढ़ (अलीगढ़) ने अपने प्रयोगों में सफल पाया है। लेखक को भी यह आशानुरूप लगा है।
Follow us on Social Media.

1 thought on “इन नुस्खों से लाये लाये चेहरे पर गजब रौनक – Home remedies for face”

Leave a Comment